कन्या आयुष योजना PM Kanya ashirwad yojana scheme apply online

प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना : हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा देश की कन्याओं के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका हमें प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना जैसा कि नाम से ही पता चला है कि इस योजना का पूरा लाभ देश की कन्याओं को मिलेगा| आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से प्रधानमंत्री कन्या योजना के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करेंगे तथा इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए क्या-क्या सरकार द्वारा मांगे गए हैं और किन-किन मापदंडों पर सही बताना लाभार्थी के लिए आवश्यक है|

कन्या आयुष योजना के तहत योजना का लाभ कन्याओं को दिया जाएगा और देश के प्रत्येक कन्या योजना का लाभ प्राप्त कर सकती है सर्वप्रथम उन कन्याओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा जो कि गरीब परिवार से संबंध रखते हैं। कन्या योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा आवेदन करने से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस आर्टिकल में बता रहे हैं।

योजना से संबंधित जानकारी

  • योजना का नाम- प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना
  • योजना- राज्य सरकार योजना
  • शुरू की गई- प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा
  • उद्देश्य- 2000 प्रत्येक बच्चे को लाभार्थी राशि देना
  • योजना की शुरुआत- 10 जुलाई 2020
  • लाभ- आर्थिक सहायता प्रदान करना

प्रधानमंत्री कन्या योजना के तहत हर बच्चे को 2000 दिए जाएंगे| केंद्र सरकार द्वारा पीएम कन्या योजना के तहत हर बच्चे को 2000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जैसा कि हम सभी जानते हैं कि लोगों के बीच आर्थिक स्थिति बहुत अधिक बिगड़ चुकी है और इसी स्थिति को सुधारने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न कदम उठाए जा रहे हैं जिनमें से यह एक महत्वपूर्ण कदम कन्या के उत्थान के लिए सरकार द्वारा उठाया गया है|

प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना

कन्या आयुष योजना
कन्या आयुष योजना

इस योजना के तहत सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी इसके लिए कन्या के पास बैंक खाता होना अनिवार्य है इस लेख में हम संपूर्ण दस्तावेजों से संबंधित विस्तृत जानकारी उपलब्ध करेंगे| इस योजना से देश के प्रत्येक बच्चे आर्थिक रूप से सुधरेगी तथा सभी गरीब तबके की बेटियों को लाभ मिलेगा| केंद्र सरकार द्वारा 2015 में कन्याओं के उत्थान के लिए सुकन्या समृद्धि योजना को लांच जिससे बच्चों की पढ़ाई तथा उनके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए बच्चियों को आर्थिक सहायता दी जा रही थी इसके साथ ही उन्हें विवाह के लिए भी आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही थी । इसी के तर्ज पर अब यह पीएम कन्या आयुष योजना को शुरू किया गया है|

जानकारी के अनुसार इस योजना के अंतर्गत

दोस्तों एक मैसेज सोशल मीडिया पर बहुत ही तेजी से वायरल हो रहा है और जिस में इस योजना पीएम कन्या आयुष योजना से संबंधित जानकारी प्रदान की गई है कि भारत सरकार द्वारा प्रत्येक कन्या को 2000 की आर्थिक सहायता केंद्र सरकार द्वारा इस लॉकडाउन के समय में प्रदान की जाएगी यह आर्थिक सहायता कन्या के सीधे बैंक खाते में डाल दी जाएगी इसके लिए कन्या के पास कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज होना अनिवार्य है।

दस्तावेज जो चाहिए

  1. कन्या के पास भारत का स्थाई निवासी प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।
  2. आधार कार्ड का होना अनिवार्य है
  3. अपना बैंक खाता होना अनिवार्य है ताकि दी जाने वाली लाभार्थी राशि उसे मिल सके
  4. कन्या के पास वैलेड मोबाइल नंबर का होना भी अनिवार्य है ताकि विभिन्न जानकारियां से मोबाइल पर ही प्राप्त कर सके
  5. आयु से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कन्या को बर्थ सर्टिफिकेट दिखाना भी अनिवार्य है
  6. इस योजना में भाग लेने के लिए कन्या की न्यूनतम आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए|

पीआईबी फैक्ट चेक ने खुलासा किया है कि प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना के नाम से जो सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है वह पूरी तरह से झूठ है केंद्र सरकार द्वारा इस प्रकार की कोई भी योजना चलाई गई है उतना ही केंद्र सरकार द्वारा हर बच्चे को ₹2000 उपलब्ध किए जा रहे हैं लेकिन हकीकत में इस योजना को फर्जी बताया गया है| यदि आपको भी इस प्रकार की किसी योजना की जानकारी है तो इस पर बिल्कुल भी विश्वास ना करें क्योंकि यह पूरी तरह से फर्जी है।

PM Kanya ashirwad yojana

आयुष योजना पूरी तरह से फर्जी है इसकी सच्चाई पीआईबी द्वारा ट्विटर अकाउंट पर दी गई है पीआईबी फैक्ट चेक कर एक टि्वटर ऑफिशल अकाउंट है जहां पर विभिन्न जानकारियों से लोगों को आगाह किया जाता है तथा जो भी योजनाएं फेक है उनकी जानकारी प्रदान की जाती है। इससे पहले भी कई तरह की फेस योजनाओं की जानकारी पीआईबी द्वारा लोगों को दी गई है जैसा कि 1 सितंबर को यह दावा किया जा रहा था कि पूरे देश के बिजली बिल को माफ कर दिया जाएगा यह 1 वर्षीय थी जो कि केंद्र सरकार के इस पीआईबी अकाउंट के द्वारा लोगों को बताई गई|

इसके साथ ही एक अन्य खबर के मरीज के लिए नगरपालिका को 1.5 लाख उपलब्ध करा रहे हैं यह मैसेज व्हाट्सएप पर बहुत अधिक वायरल हुआ था पीआईबी फैक्ट चेक केंद्र सरकार की पॉलिसी स्कीम विभाग सूचना को फैलाने से रोकने का काम करता है| झूठ है या सच यह जाने के लिए मदद ली जा सकती है पीआईबी के माध्यम से| कोई भी व्यक्ति PIB Fact check की खबर का स्क्रीनशॉट ट्विटर फेसबुक पोस्ट या URL पर शेयर कर सकता है|

इस खबर में दावा किया गया कि प्रत्येक बच्चे को ₹2000 सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे और बच्चे का देश का स्थाई निवासी होना अति अनिवार्य है साथ ही इस योजना के तहत प्राथमिकता गरीब परिवार से संबंध रखने वाले कन्या को दिया जाएगा पीएम कन्या आयुष योजना के तहत लाभार्थी राशि सीधे बच्चे के खाते में ट्रांसफर की जाएगी इसलिए बच्चे के पास अपना बैंक खाता होना भी अनिवार्य है साथ ही बच्ची की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होना चाहिए यह दावा खबर में किया जा रहा है

प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना आवेदन की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया से संबंधित जानकारी उपलब्ध की गई है कि इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको नजदीकी डाकघर में जाना होगा और यहां से आप आसानी से यह फार्म ले सकते हैं लेकिन जैसा कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि यह खबर पूरी तरह से झूठी है और इस पर कतई विश्वास ना करें। कुछ शरारती तत्वों द्वारा इस प्रकार की खबरें फैलाई जाती हैं लेकिन पीआईबी द्वारा इन सभी खबरों का पर्दाफाश किया जाता है और लोगों को सच्चाई के साथ अवगत किया जाता है इसलिए आप भी इस तरह की खबरों से दूर रहें और इन पर विश्वास ना करें यह पूरी तरह से जुटी है|

मिनिस्ट्री ऑफ़ वीमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट की तरफ से भी इस योजना के बारे में कोई भी जानकारी लोगों को नहीं उपलब्ध की गई है और ना ही आधिकारिक वेबसाइट पर इस तरह की योजना से संबंधित कोई जानकारी है प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो पीआईबी द्वारा इस योजना से संबंधित लोगों को अवगत किया गया कि यह पूरी तरह से जुटी है और सरकार द्वारा कोई भी आर्थिक सहायता कन्या आयुष योजना के तहत नहीं दी जा रही है| दावे के मुताबिक कन्या आयुष योजना प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा चलाई गई योजना है और इसका लाभ प्रत्येक कन्या जिसकी आयु 18 वर्ष या इससे अधिक है वह प्राप्त कर सकते हैं|

Leave a Comment

Your email address will not be published.